Loading...
Loading...
Laado First slider

About Us

Laado about

लाडो केयर सोसाइटी उदयपुर (राजस्थान) में स्थित भारत में एक गैर सरकारी संगठन है। यह संस्था २०२० में स्थापित हुई है। लाडो केयर सोसाइटी भारत में महिलाओ के उत्थान के लिए कार्य करती है। एक बुनियाद जिसकी मजबूती से इमारत की बुलन्दी जिसकी आसमान छूती बस यही कहानी है लाडो केयर सोसाइटी की जिसने लीक से हटकर कुछ ऐसा करने की सोची जिसके बल पर कई महिलाओं की जिन्दगी बदली है और महिलाओं में न केवल अपनी पुरानी रूढ़ियों को तोडा है। 

          राजस्थान के  ग्रामीण आदिवासी बाहुल्य क्षैत्र सलूम्बर में बालिकाओ की शिक्षा देने के साथ उनके साफ़ सफाई अपना लक्ष्य बनाया। महिलाओं की शिक्षा के लिये काम करते -करते अचानक से एक मोड़ आया जब स्वास्थ को लेके एक साथी महिला को मासिक धर्म में सही तरीके से देखभाल नहीं करने और आदिवासी प्रथाओं में कपड़ा निम्न स्तर के पेड़ के उपयोग के कारण संक्रमण हो गया। जिसके बाद परिवार के लोग उससे दूरी बनाने लग गये और उसके स्वास्थ में निरन्तर गिरावट आने लगी। साथी महिला की इस स्तिथि को देख महिलाओं की स्तिथि को सुधारने का संकल्प लिया। फिर शुरू हुआ एक मिशन जिसमे ग्रामीण महिलाओं का मासिक धर्म में उपयोग में आने ... Read More.

Laado awareness program


               

लाडो केयर सोसाइटी उदयपुर (राजस्थान) में स्थित भारत में एक गैर सरकारी संगठन है। यह संस्था २०२० में स्थापित हुई है। लाडो केयर सोसाइटी भारत में महिलाओ के उत्थान के लिए कार्य करती है। एक बुनियाद जिसकी मजबूती से इमारत की बुलन्दी जिसकी आसमान छूती बस यही कहानी है लाडो केयर सोसाइटी की जिसने लीक से हटकर कुछ ऐसा करने की सोची जिसके बल पर कई महिलाओं की जिन्दगी बदली है और महिलाओं में न केवल अपनी पुरानी रूढ़ियों को तोडा है। 

          राजस्थान के  ग्रामीण आदिवासी बाहुल्य क्षैत्र सलूम्बर में बालिकाओ की शिक्षा देने के साथ उनके साफ़ सफाई अपना लक्ष्य बनाया। महिलाओं की शिक्षा के लिये काम करते -करते अचानक से एक मोड़ आया जब स्वास्थ को लेके एक साथी महिला को मासिक धर्म में सही तरीके से देखभाल नहीं करने और आदिवासी प्रथाओं में कपड़ा निम्न स्तर के पेड़ के उपयोग के कारण संक्रमण हो गया। जिसके बाद परिवार के लोग उससे दूरी बनाने लग गये और उसके स्वास्थ में निरन्तर गिरावट आने लगी। साथी महिला की इस स्तिथि को देख महिलाओं की स्तिथि को सुधारने का संकल्प लिया। फिर शुरू हुआ एक मिशन जिसमे ग्रामीण महिलाओं का मासिक धर्म में उपयोग में आने वाली सैनेटरी पैड्स क बारे में जानकारी देने और रुढीवादी प्रथाओं को तोड़ने का। 

           एक मिशन जिसमे ग्रामीण महिलाओं का मासिक धर्म में उपयोग में आने वाली सैनेटरी पैड्स क बारे में जानकारी देने और रुढीवादी प्रथाओं को तोड़ने का।  महिलाओं के लिए एक ऐसे मिशन की शुरुआत हुई  जिसके बारे में आज चर्चा हर किसी की जुबान पर है। 
            मेहनत  और लगन से बढ़ते हुए लाडो केयर सोसाइटी  महिलाओं के लिए बहुत ही रियायत दर उत्कृष्ट श्रेनी के लिए बायोडिग्रेडेबल सनटेरी पैड्स देने का निर्णय लिया। 

To Top